May 11, 2009

अमिताभ बच्चन गंजे हैं!

दोस्तों, शताब्दी के मेगास्टार अमिताभ बच्चन के बारे में हम रोजाना कुछ ना कुछ पढ़ते रहते हैं। आज खबर है कि उन्हें मकाऊ में अपना एक प्रशंसक मिला जिसने उन्हें बताया कि २५ साल पहले उसने उन्हें छूकर यह देखा था कि अमिताभ सच में एक हकीकत हैं या कोई भ्रम..। फिर खबर आई की उनकी आने वाली फिल्म रण का गाना जन..जण...मन...रण विवादित हो गया है और इसे फिल्म से हटाने की माँग की जा रही है। फिर कभी अमिताभ कहते हैं कि उनका ब्लॉग पढ़ने वाले पाठक उनके परिवार समान ही हैं। लेकिन इन सब बातों को पढ़ते हुए मुझे एक ख्याल आता है कि अमिताभ ने अपने ब्लॉग के माध्यम से अपने बारे में सभी बातें लोगों को बताना सीख लिया है। वो जानते हैं कि उनकी लिखी बातें खबर भी बनती हैं। लेकिन मैं उनके बारे में आपको कुछ अन्य रोचक बातें बताउँगा। जैसे, अमिताभ ने किसी को यह कभी क्यों नहीं बताया कि वे गंजे हैं...!!!!!!!

जी हाँ, ये सच है कि अमिताभ गंजे हैं..। यकीन नहीं हुआ आपको..?? तो आप अमिताभ की सभी तस्वीरें सामने रखकर देखिए...उसमें आप एक समानता पाएँगे। एक बाल भी इधर से उधर हुआ कभी नहीं पाएँगे। हाँ, वे बालों का रंग थोड़ा बदलवा लेते हैं लेकिन अब तो काफी समय से उनके विग का रंग भी एक ही है। मेरी बात आजमाकर देखिएगा आप। दूसरा तर्क, अमिताभ की उम्र 66 वर्ष है। क्या इस उम्र में किसी व्यक्ति के बाल इतने स्टाइलिश और इतने घने हो सकते हैं जैसे कि अमिताभ के हैं। फिर बीच में आप लोगों को याद होगा कि अमिताभ थोड़े दिन पहले फिर बीमार हो गए थे और लीलावती अस्पताल में भर्ती रहे थे। जब वे बाहर आए तो भरी दोपहर बंदर टोपा लगाए थे। नहीं समझ आया आप लोगों को, कि वो उस टोपे को क्यों पहने थे...????? अरे भाई, अपना गंजापन छुपाने के लिए, और काएके लिए..। एक और तर्क सुन लीजिए..अमिताभ के बालों के देखिए..वो सभी एक सीध में हैं, खड़े हुए से...जबकि आपके-हमारे बाल बड़े होने पर स्वतः थोड़ा मुड़ जाते हैं...तो यह फर्क है असली और नकली बालों में...अब आप लोग शिकायत ना कीजिए, अमिताभ बच्चन को आपने पिछले कई सालों से बड़े बालों में नहीं देखा होगा..तो उसका यही कारण है....आप मित्रों में से कोई मुझसे पूछ सकता है कि वे कब से गंजे हैं...तो यह भी सुन लीजिए..वो 1982 में कुली फिल्म के सेट पर हुई दुर्घटना के बाद से गंजे हैं। उस दौरान ली गई स्टेराइड्स ने उनके शरीर की हालत खराब कर दी, बाल उड़ा दिए..और आज उनके साथ २० हजार रुपए महीना लेने वाला एक आदमी रहता है जो उन्हें समय पर दवाइयाँ देता है। ये दवाइयाँ प्रत्येक माह लाखों रुपए की होती हैं। यानी बच्चन साहव पूरी तरह से दवाइयों पर चल रहे हैं..कारण वही पुरानी चोट...। हाँ ये बात अलग है कि उनकी लंबी उम्र के पीछे हरिवंशराय बच्चन और तेजी बच्चन का हाथ है। कारण..कि लंबी उम्र का मामला हैरिडिटी का होता है। जिस व्यक्ति के माता-पिता लंबी उम्र के होते हैं....बहुत संभव है कि वह व्यक्ति भी लंबी उम्र का ही हो....। सो बच्चन साहब भी जी रहे हैं...। तो अमित जी के गंजे होने की बात अब भी दोस्त लोग ना माने तो मैं क्या कर सकता हूँ...। :-)

खैर, अब बात अमिताभ की ब्लॉगिंग की....अमिताभ अपना ब्लॉग पढ़ने वाले पाठकों को अपना परिवार कहते हैं। लेकिन मुझे लगता है कि वो परिवार उपेक्षित है। अमिताभ अपनी छोटी-मोटी पोस्ट पर भी 500 से 1000 कमेन्ट्स पा लेते हैं....लेकिन अमिताभ ने उन कमेन्ट्स को इतना धुंधला कर रखा है कि कोई भी उन्हें आँखें गड़ाकर भी नहीं पढ़ सकता और फिर अमिताभ को तो खुद चश्मा लगा हुआ है। वे क्या पढ़ पाते होंगे जब हम ही नहीं पढ़ पा रहे हैं। दूसरी बात, जिस प्रकार अमिताभ अपनी दवाइयाँ खुद नहीं ले पाते तो वे खुद ब्लॉग लिखने जैसा कष्टकारी काम कैसे कर पाते होंगे। अनिल अंबानी को पता है कि बिग अड्डा की अच्छी शुरुआत अमित जी के ब्लॉग लिखने के वजह से ही हुई है। तो एक मातहत रखवा दिया होगा (महीने के वेतन पर) जो अमित जी से सुनकर उनका ब्लॉग लिख देता होगा, ठीक वैसे ही जैसे आडवाणी जी या अन्य बड़ी हस्तियाँ लिख (?) रही हैं। तो अमित जी के ब्लॉग पर दोबारा जाइए...और इन सब बातों को महसूस कीजिए..। मैं तबतक के लिए आपसे विदा लेता हूँ।

आपका ही सचिन...।

10 comments:

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...

अरे आपने तो अँदर की बातोँ को आज ब्लोग - जगत पर
उजागर कर दिया -
अभी आते होँगे ,
उनके हितैषी :)
आपसे पूछने कि,
किस आधार पर
आप ने ये सब लिख दिया !
खैर ..
हम तो फिर भी कहेँगे कि,
वे स्वस्थ रहेँ
( अब बाल जैसे भी होँ
क्या फर्क पडता है )
- लावण्या

Udan Tashtari said...

ये बाजू में लगी तस्वीर आपकी है? :)

क्या पता, मैं एक राकेश नाम के बंदे को जानता हूँ, उसकी तस्वीर लग रही है.

बस, यूँ ही कयास लगाया, कोई प्रमाण व्रमाण तो है नहीं..और कौन मांगता है प्रमाण पत्र. :)

सिद्धार्थ जोशी Sidharth Joshi said...

ये तस्‍वीर राकेश की ही लग रही है। सचिन जी ने अपने ब्‍लॉग पर लगा ली होगी। वैसे राकेश स्‍मार्ट दिखता है और इंटेलेक्‍चुअल भी। पक्‍की बात है राकेश ही होना चाहिए।

ध्‍यान से देखिए राकेश ही दिखेगा। :)

प्रत्‍यक्ष को प्रमाण की क्‍या आवश्‍यकता ?

Rachna Singh said...

this is true because when ever amitabh is sick and is shown on tv we call can see him wearing a cap and he has his hand always on the cap you can find some photos and put them here also

Rachna Singh said...

http://news.bbc.co.uk/2/hi/south_asia/4481850.stm

Rachna Singh said...

http://www.desihits.com/photo/index/8172

Sachin said...

धन्यवाद रचना जी, कि आपने मेरी बात से सहमति जताई और अपना समर्थन व्यक्त किया। आपके द्वारा यहाँ दी गई लिंक्स उन लोगों को रोशनी प्रदान करेंगी जो मेरी बात से असहमत होंगे। मैंने बच्चन साहब का वो फोटो लगाया जिसमें वो घने बालों के साथ दिखाई दे रहे हैं जबकि आपने टोपे वाले फोटो उपलब्ध करवाए। मैं समझता हूँ बस इतना ही काफी है क्योंकि समझदार को इशारा ही काफी होता है। लिंक्स के लिए आपको फिर से धन्यवाद। - सचिन

GJ said...

Hello friend,

Your post has been back-linked in
http://hinduonline.blogspot.com/
- a blog for Daily Posts, News, Views Compilation by a Common Hindu - Hindu Online.

Please visit the blog Hindu Online for posts from a large number of blogs, sites worth reading out of your precious time and give your valuable suggestions and comments.

Sachin said...

Thanx to you, My Friend GJ.

Urs sachin.

Pragya said...

सच का तो पता नहीं पर लेख बहुत साहसी और हिम्मती है. कश अमिताभ जी की भी नजर पड़े.