May 12, 2009

प्रियंका को फिर भी ना बचा सकीं सोनिया!



सयानी सोनिया की मनमानी सभी जगह नहीं चली
दोस्तों, मैं एक बार फिर से आपके सामने हूँ। मेरी पिछली पोस्ट अमिताभ बच्चन पर थी। उससे पिछली सोनिया गाँधी पर..लेकिन इस बार मैं इन दोनों लोगों को आपके लिए जोड़ सकता हूँ।

तो दोस्तों, अब मुद्दे की बात। कि सोनिया गाँधी सयानी या कहें चतुर महिला हैं यह किसी को बताने की जरूरत नहीं। लेकिन उन्होंने कुछ मामलों में जीवन में मात भी खाई है। सबसे बड़ा उदाहरण हैं प्रियंका गाँधी। सोनिया ने प्रियंका को लेकर बहुत ख्वाब संजो रखे थे लेकिन प्रियंका ने 12 साल पहले उन ख्वाबों को पलीता लगा दिया उस राबर्ट वाडरा से शादी करके। कम ही लोगों को पता होगा कि आखिर राबर्ट में ऐसी क्या बात थी कि परी सी लगने वाली प्रियंका ने उस भुजंग से दिखने वाले राबर्ट के साथ ब्याह रचा लिया और राजनीतिक जीवन से अभी तक सिर्फ उस शादी की वजह से दूरी बना रखी है। जबकि वो जानती हैं कि वो राजानिती में आईं तो जबरदस्त सफल होंगी क्योंकि भारत की जनता उनमें उनके पिता राजीव गाँधी की छवि देखती हैं। तो सुनिए, प्रियंका और राबर्ट स्कूल के समय से दोस्त हैं। राबर्ट एक बहुत अच्छा सालसा डांसर है और उसकी इसी अदा पर प्रियंका मर मिटीं। स्कूल के समय से ही दोनों जोड़ा बनाकर सालसा करते थे। हालांकि इससे पहले सोनिया ने कई लोगों की नजरों से प्रियंका को बचाए रखा लेकिन यहाँ आकर वो गच्चा खा गईं।

अब आप मुझसे पूछ सकते हैं कि किन लोगों की नजरों से सोनिया ने प्रियंका को बचाए रखा। तो मैं अभी सिर्फ दो नाम लूँगा। सबसे पहला कि राजीव गाँधी के घनिष्ट मित्र होने के नाते खुद अमिताभ बच्चन अभिषेक के लिए प्रियंका को (यहाँ उम्र का बंधन ना देखें..बड़े परिवारों में सब चलता है और ऐश भी अभिषेक से बड़ी है) पसंद बनाए हुए थे। जया भी यह रिश्ता चाहती थीं लेकिन सोनिया नहीं मानीं। फिर माधवराव सिंधिया भी ज्योतिरादित्य के लिए प्रियंका को चाहते थे लेकिन यहाँ भी दाल नहीं गलने दी गई। सोनिया प्रियंका के लिए किसे चाहती थीं यह बात तो ओपन नहीं हो सकी लेकिन राजीव जी की हत्या के बाद सोनिया ने सारी लगामें अपने हाथ में ले लीं और उनके सभी दोस्तों की धीरे-धीरे छुट्टी कर दी। 1998 में सोनिया ने कांग्रेस की कमान संभाली और बहुत ताकतवर होकर सामने आईं लेकिन तब तक देर हो चुकी थी और प्रियंका राबर्ट का हाथ 1997 में थाम चुकी थीं, नहीं तो प्रियंका के लिए सोनिया ने बहुत ऊँचे सपने देखे थे। सोनिया प्रियंका को उस जगह पर बैठातीं जहाँ मजबूरी में उन्होंने राहुल को बैठाया, सोनिया हमेशा से जानती थीं कि प्रियंका में पब्लिक अपील राहुल से ज्यादा है, लेकिन भाग्य को कौन टाल सकता है। सोनिया राबर्ट से बहुत चिढ़ती थीं लेकिन प्रियंका का परिवार बढ़ा, दो बच्चे पैदा हो गए और हर पारिवारिक इंसान की तरह सोनिया ने भी राबर्ट को अपना लिया। लेकिन राबर्ट अभिषेक, ज्योतिरादित्य से कमजोर कैडिंडेट साबित हुए।

तो मेरे दोस्तों, यहीं मैं आपको एक ऐसी बात बताने जा रहा हूँ जिससे आपको पता चलेगा कि क्यों गाँधी परिवार और बच्चन परिवार का तीन पीढ़ियों का घनिष्ट रिश्ता टूट गया। आगे सुनिए, जब प्रियंका ने राबर्ट से शादी की तब इस बात से झल्लाई जया बच्चन ने नंदा फैमिली (जो बच्चन परिवार के साथ ही गाँधी परिवार के रिश्ते में भी है) में यह कह दिया कि आखिर प्रियंका गई तो एक कबाड़ी के साथ ही ना..!!!!!!! (विदित है कि राबर्ट का पारिवारिक धंधा एंटीक बर्तन-भांडों के व्यापार से संबंधित है)

बस यही वो बात थी जिसने सोनिया का खून खौला दिया। उस दिन से आज का दिन है कि दोनों परिवारों में पड़ी दरार चौड़ी होती गई और अमिताभ यह कहते सफाई देते रहे कि वो (गाँधी परिवार) राजा हैं और हम (बच्चन परिवार) रंक हैं। अमिताभ अपनी लिमिट जानते हैं इसलिए झुक जाते हैं लेकिन जया बच्चन ने इस पूरे एपिसोड में द्रोपदी का किरदार निभाया और इन दो पुराने परिचित परिवारों में ऐसी आग लगाई जो समय के साथ बुझने के बजाए बढ़ती जा रही है। सोनिया को पता है कि प्रियंका ने गलती की है लेकिन वो ना तो इसे स्वीकारना चाहती हैं और ना ही किसी से सुनना चाहती हैं। जया बच्चन ने बर्र के छत्ते में हाथ दे दिया था। जबकि अमिताभ का मानना था कि वे राजीव जी के मित्र थे तो क्यों तो बाहरी महिलाओ (बहुओं) ने इस रिश्ते को खत्म कर दिया।

.........दोस्तों, लिखते-लिखते थोड़ा थक गया हूँ। सोनिया के विजन या चतुराई को बताना आगे भी जारी रखूँगा...अब कल तक का इंतजार किजिए...अचानक थोड़ा काम भी आ गया है। तब तक के लिए विदा..

आपका ही सचिन.....।

9 comments:

संगीता पुरी said...

अंदर की बातें आपको कहां से मालूम हो जाती है भई .. अगली कडी का इंतजार रहेगा।

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...

प्रियँका वडेरा को देखकर राजीव गाँधी की नहीँ मुझे तो इँदीरा जी की याद ज्यादा आती है - और अगर प्रियँका राजनीति मेँ दाखिल हो जायेँ तब राहुल से ज्यादा वोट जीतेँगीँ ये भी पक्की बात है -
आपको एक और लिन्क बतला दूँ ? :)
नँदा परिवार मेँ,
राज कपूर जी की सबसे बडी बेटी,
ऋतु का ब्याह हुआ राजन नँदा से और उन्का पुत्र, निखिल नँदा,
जया अमिताभ का दामाद है
( श्वेताम्बरा से ब्याह कर के ) -
मगर इस से भी कई बरसोँ पूर्व,
राज कपूर जी की सबसे बडी बेटी ऋतु के ब्याह के लिये,
राजीव गाँधी से भी बात चली थी :)
आगे 'सोनिया - गाथा '
भी सुनाइये...
- लावण्या

Udan Tashtari said...

भयंकर कहानी धरे हो भई अन्दर की. चलो, अब आगे सुनाओ. मजा तो आता ही है अंदर की बातें सुनने में. :)

Suresh Chiplunkar said...

माँ-बाप की मर्जी के विरुद्ध और अपने से बहुत नीचे दर्जे वाले से शादी करना तो इस खानदान की परम्परा रही है… :) :)

Pragya said...

बात तो सच में अन्दर की ही है.. पर कहते हैं की इंसान सब से जीत सकता है पर औलाद से हार जाता है. अब सोनिया जी ने अपनी बेटी की ख़ुशी में अपनी अपनी ख़ुशी ढूंढ ली है तो यही अच्छा है और हम सब इससे खुश हो लेते हैं.
जहाँ तक अभिषेक या ज्योतिरादित्य की बात है, तो इस मामले में मेरा विचार थोडा अलग है. प्रेम कभी खानदान या परिवार देख कर नहीं होता. जब प्रियंका ने रॉबर्ट को पसंद किया है तो कुछ न कुछ बात होगी ही उसमें. अब चाहे वो उसका सालसा हो या कुछ और.
और प्रियंका चाहे खुल कर राजनीती में आये या न आये, जहाँ तक मेरा विचार है, उनका हमेशा ही अपने परिवार को support रहता है.
अब देश का प्रधानमंत्री चाहे राहुल हो या प्रियंका या फिर मनमोहन, डोर तो एक के ही हाथ में है :)

Sachin said...

यहाँ प्रज्ञा बस मैं तुमसे इतना ही कहना चाहता हूँ कि मेरा एंगल इस पोस्ट में प्रियंका की तरफ से नहीं है। ये एंगल सोनिया की तरफ से है। सोनिया ने क्या सोचा और क्या हुआ, इस पर ही पूरी बात लिखी गई है। बात रही कि ये सब सच है या झूठ तो ये सब आप लोग पता करें, मैंने अपना ब्लॉग कोई गप्पबाजी या गासिप के लिए शुरू नहीं किया है। इससे पहले भी इस ब्लॉग पर १०० से ज्यादा पोस्ट डाली जा चुकी हैं, उनमें कोई भी गॉसिप नहीं है। विश्वास के साथ पढ़े, उसी एंगल से पढ़ें जो मैं दिखा रहा हूँ तभी उसे पढ़ने का मजा भी आएगा। - सचिन

Abhishek Mishra said...

Jab se 'gopniya suchnayein' uplabdh karani shuru ki hain aapne, aapki TRP kafi teji se badhi hai. Badhai.

GJ said...

Hello Blogger Friend,

Your excellent post has been back-linked in
http://hinduonline.blogspot.com/
- a blog for Daily Posts, News, Views Compilation by a Common Hindu - Hindu Online.

Please visit the blog Hindu Online for outstanding posts from a large number of bloogers, sites worth reading out of your precious time and give your valuable suggestions and comments.

GJ said...

Hello Blogger Friend,

Your excellent post has been back-linked in
http://hinduonline.blogspot.com/
- a blog for Daily Posts, News, Views Compilation by a Common Hindu - Hindu Online.

Please visit the blog Hindu Online for outstanding posts from a large number of bloogers, sites worth reading out of your precious time and give your valuable suggestions and comments.